You are here
Home > breaking > श्रीदेवी के बाद वेटरन एक्‍ट्रेस ‘शम्मी आंटी’ नहीं रहीं

श्रीदेवी के बाद वेटरन एक्‍ट्रेस ‘शम्मी आंटी’ नहीं रहीं

बॉलीवुड की वेटरन एक्‍ट्रेस शम्‍मी ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया है. श्रीदेवी के निधन के शोक से अभी हिंदी फिल्‍म इंडस्‍ट्री उभरी भी नहीं है वहीं एक और दुखद समाचार सामने है. शम्‍मी को इंडस्‍ट्री में उनके चाहनेवाले शम्‍मी आंटी कह कर पुकारते थे. खबर है कि वे पिछले काफी समय से बीमार चल रही थीं और सोमवार की रात एक बजे उनका निधन हो गया.

अभिनेत्री शम्‍मी के निधन पर अमिताभ बच्‍चन ने ट्विटर पर उन्‍हें श्रद्धाजंलि देते हुए लिखा,’ बेहदरीन अदाकारा और परफॉर्मर अब हमारे बीच नहीं रहीं. उनकी तबीयत लंबे समय से खराब चल रही थीं. धीरे-धीरे सभी जा रहे हैं.’ शम्‍मी ने लगभग 200 फिल्‍मों में काम किया था. शम्‍मी 89 वर्ष की थीं.

शम्‍मी ने न सिर्फ फिल्‍मों में काम किया बल्कि टीवी शोज़ में भी वे हमेशा काम करती रहीं. उनके चर्चित शो ‘देख भाई देख’ को भला कोई कैसे भूल सकता है ? उन्‍होंने ‘फिल्‍मी चक्‍कर’, ‘श्रीमान श्रीमती’ और ‘जबान संभाल के’ जैसे शोज़ में अभिनय किया है

शम्‍मी ने मधुबाला, न‍रगिस और दिलीप कुमार जैसे दिग्‍गज कलाकारों के साथ भी काम किया था. शम्मी का जन्म पारसी परिवार में हुआ था. उनका असली नाम नरगिस था लेकिन फिल्मों में कदम रखते समय डायरेक्टर के कहने पर उन्‍होंने अपना नाम बदलकर शम्मी रख लिया क्योंकि बॉलीवुड में पहले से ही नरगिस नाम की एक्ट्रेस मौजूद थीं. शम्‍मी के करीबी मामा को बॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियों से जान पहचान थी. उनके कहने पर शम्‍मी को बॉलीवुड में इंट्री मिली थी.

शम्मी ने 18 साल की उम्र में फिल्म उस्ताद पेड्रो से बॉलीवुड में डेब्‍यू किया था. फिल्‍म में उन्‍होंने बेगम पारा का किरदार निभाया था. शम्मी पहली बार फिल्‍म ‘मलहार’ में मुख्य किरदार में नजर आई थी. इस फिल्म को सिंगर मुकेश ने प्रोड्यूस किया थी. उनकी प्रमुख फिल्‍मों में संगदिल, जब जब फूल खिले, डोली, सजन, इत्‍तेफाक और उपहार जैसी फिल्‍में शामिल हैं.

Leave a Reply

Top