You are here
Home > MANORANJAN > कास्टिंग डायरेक्टर से शुरू किया सफर, अब बड़े निर्देशकों में शुमार हैं तिग्मांशु धूलिया

कास्टिंग डायरेक्टर से शुरू किया सफर, अब बड़े निर्देशकों में शुमार हैं तिग्मांशु धूलिया

तिग्मांशु धूलिया फिल्म इंडस्ट्री के नामी डायरेक्टर्स में से एक हैं. डायरेक्टर, स्क्रीन राइटर और एक्टर, तिग्मांशु धूलिया का जन्म 3 जुलाई 1967 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में हुआ था.

‘हासिल’, ‘साहेब बीवी और गैंगस्टर’, ‘पान सिंह तोमर’ और गैंग्स ऑफ वासेपुर जैसी बेहतरीन फिल्में तिग्मांशु ने दर्शकों तक पहुंचाई हैं. उनके काम में वास्तविकता की झलक ज्यादा दिखाई देती है जो मन को अंदर तक झकझोर देती है.

तिग्मांशु के पिता इलाहाबाद हाई कोर्ट के जज और मां संस्कृत की प्रोफेसर थीं. तिग्मांशु ने 1986 में इलाहाबाद से ग्रेजुएशन के बाद दिल्ली में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से थिएटर की मास्टर डिग्री ली.

तिग्मांशु धूलिया ने 1990 में मुंबई आकर सबसे पहले कास्टिंग डायरेक्टर का काम किया. उन्होंने ‘बैंडिट क्वीन’ और ‘द वॉरियर’ जैसी फिल्मों के लिए कास्टिंग की थी.

कास्टिंग डायरेक्टर के बाद तिग्मांशु ने केतन मेहता की फिल्म ‘सरदार’ और प्रदीप कृष्ण की ‘इलेक्ट्रिक मून’ में अस्सिटेंट डायरेक्टर का काम भी किया. तिग्मांशु ने ‘दिल से’ और ‘तेरे मेरे सपने’ में स्क्रीन राइटर का काम भी किया था.

डायरेक्टर के तौर पर तिग्मांशु ने अपनी पहली फिल्म ‘हासिल’ बनाई थी जिसे युवाओं के साथ-साथ सभी वर्ग के लोगों ने सराहा था. तिग्मांशु की बनाई हुई फिल्म ‘पान सिंह तोमर’ को ‘बेस्ट फीचर फिल्म’ का नेशनल अवॉर्ड भी दिया गया है. तिग्मांशु ने ‘फिल्मों के अलावा ‘एक दूजे के लिए’ और ‘राजधानी’ जैसे टीवी सीरियल्स भी बनाए.

तिग्मांशु ने डायरेक्शन के साथ-साथ ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’, ‘साहेब बीवी और गैंगस्टर’, ‘शाहिद’ और ‘तेवर’ जैसी फिल्मों में अपनी एक्टिंग की है.

Leave a Reply

Top