You are here
Home > breaking > सुषमा ने सुनाई खूब खरी-खोटी,सरताज अजीज पर दागे ट्वीट

सुषमा ने सुनाई खूब खरी-खोटी,सरताज अजीज पर दागे ट्वीट

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान की कैंसर पीड़ित युवती फैजा तनवीर के मेडिकल वीजा मामले में भारत का पक्ष साफ किया है। एक के बाद एक कई ट्वीट कर सुषमा ने न केवल इस मामले में भारत सरकार का स्टैंड स्पष्ट किया, बल्कि दोहरे मापदंडों के लिए पाकिस्तान को खूब खरी-खोटी सुनाई। सुषमा ने आश्वासन दिया कि अगर नियमों का पालन करते हुए पाकिस्तान के (डी फैक्टो) विदेश मंत्री सरताज अजीज अपने नागरिकों के मेडिकल वीजा आवेदन की अनुशंसा करते हैं, तो भारत तत्काल वीजा जारी कर देगा। सुषमा ने लगे हाथों बेहद संयत, लेकिन सधे अंदाज में कुलभूषण जाधव मामले को लेकर पाकिस्तान को आड़े हाथों भी लिया।

उन्होंने जाधव की मां को वीजा न देने के लिए पाकिस्तान की निंदा भी की। सुषमा ने पाकिस्तान को याद दिलाया कि अवंतिका जाधव के वीजा निवेदन पर अबतक कोई सुनवाई नहीं हुई है। विदेश मंत्री ने साफ किया कि फैजा को मेडिकल वीजा देने में भारत की ओर से कोई आपत्ति नहीं खड़ी की गई है। सुषमा ने लिखा कि अगर सरताज अजीज नियमों के मुताबिक फैजा को मेडिकल वीजा जारी किए जाने के लिए अपनी अनुशंसा दे देते हैं, तो भारत तत्काल वीजा जारी कर देगा।

सुषमा ने इस पूरे मामले में सरताज अजीज की भूमिका पर भी सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि अजीज फैजा के आवेदन पर अपनी सिफारिश देने में देर कर रहे हैं। सुषमा ने ट्वीट किया, ‘जो भी पाकिस्तानी नागरिक भारत में इलाज कराने के लिए मेडिकल वीजा चाहते हैं, उनके साथ मेरी पूरी सहानुभूति है। मुझे भरोसा है कि सरताज अजीज को भी अपने देश के नागरिकों से काफी सहानुभूति होगी। पाकिस्तानी नागरिकों को मेडिकल वीजा जारी करने के लिए हमें केवल अजीज की ओर से सिफारिशी पत्र चाहिए होता है।’ सुषमा ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘मैं समझ नहीं पा रही हूं कि अपने ही देश के नागरिकों के मेडिकल वीजा के लिए अपनी अनुशंसा देने में सरताज अजीज हिचक क्यों दिखा रहे हैं।’

इसके बाद सुषमा ने एक और ट्वीट कर पाकिस्तान को उसके दोहरे मापदंडों की याद दिलाई। कुलभूषण जाधव के परिवार ने भी पाकिस्तान के वीजा के लिए आवेदन किया हुआ है, लेकिन नवाज सरकार ने उसपर कोई कार्रवाई नहीं की है। पाकिस्तान के दोहरे मापदंडों की पोल खोलते हुए सुषमा ने लिखा, ‘अवंतिका जाधव पाकिस्तान जाकर अपने बेटे से मिलना चाहती हैं। पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई है। उनकी मां अवंतिका के वीजा का आवेदन भी लंबित पड़ा हुआ है। पाकिस्तान ने उसपर कोई सुनवाई नहीं की है।’

सुषमा ने लिखा, ‘मैंने खुद निजी तौर पर सरताज अजीज को एक पत्र लिखा और अवंतिका जाधव को पाकिस्तान जाने का वीजा दिए जाने का आग्रह किया। इसके बावजूद अजीज ने मेरे पत्र प्राप्ति की सूचना देने का बुनियादी शिष्टाचार तक नहीं निभाया।’

मानवीय पक्षों में भारत की उदारता का परिचय देते हुए सुषमा ने आश्वासन दिया, ‘जो भी पाकिस्तानी नागरिक भारत का मेडिकल वीजा चाहते हैं, उन्हें मैं आश्वासन देती हूं कि अगर सरताज अजीज उनके वीजा आवेदन पर अपनी सिफारिश दें, तो हम तत्काल वीजा जारी कर देंगे।’ मालूम हो कि भारत कई बार पाकिस्तान से अपील कर चुका है कि वह जाधव के परिवार को उनसे मिलने की इजाजत दे। पाकिस्तान ने तो जाधव को कानूनी सहायता मुहैया कराने के भारत के आग्रह को भी मंजूर नहीं किया है।

मालूम हो कि फैजा तनवीर कैंसर का इलाज करवाने के लिए भारत आना चाहती हैं। चूंकि इस मामले में सभी नियमों का पालन नहीं किया गया था, इसीलिए भारतीय दूतावास ने फैजा का आवेदन खारिज कर दिया था। इसके बाद पाकिस्तानी मीडिया ने इस मामले को जोर-शोर से उछाला और भारत पर अमानवीय होने का आरोप लगाया।

रविवार को फैजा ने भी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की अपील की थी। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, मुंह के बेहद गंभीर ट्यूमर से ग्रस्त इलाज के लिए गाजियाबाद स्थित इंद्रप्रस्थ डेंटल कॉलेज और अस्पताल जाना चाहती हैं। अब सुषमा के ट्वीट से साफ हो गया है कि इस मामले में भारत की ओर से कोई देरी नहीं की गई है, बल्कि देर का कारण खुद पाकिस्तान सरकार है। मालूम हो कि हर साल बड़ी संख्या में पाकिस्तानी नागरिक इलाज के लिए भारत आते हैं।

– साक्षी दीक्षित

Leave a Reply

Top