You are here
Home > HOME > सोनू निगम ने विरोधियों से क्यों कहा आईक्यू चेक करने के लिए ?

सोनू निगम ने विरोधियों से क्यों कहा आईक्यू चेक करने के लिए ?

फेमस सिंगर सोनू निगम आजकल हैं सुर्ख़ियों में..अपने किसी गाने या फिल्म की वजह से नहीं बल्कि लाउडस्पीकर्स पर सुबह अजान यानी मुस्लिम मौलवियों द्वारा की जाने वाली प्रार्थना से परेशान होकर ट्वीट्स करने की वजह से…

सोनू निगम सुबह की नींद में खलल से इतना गुस्सा गए कि उन्होंने अजान पर ही अपना गुस्सा उतार दिया। सोनू ने एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए कहा, सभी पर कृपा करे। मैं मुस्लिम नहीं हूं और मैं आज अजान से जागा। भारत में कब तक धार्मिक रीतियों को जबरदस्ती ढोना पड़ेगा।’

सोनू ने एक और ट्वीट में कहा, ‘और जिस समय मोहम्मद साहब ने इस्लाम बनाया तब बिजली नहीं थी। फिर एडिसन के आविष्कार के बाद हमें इस शोरगुल की क्या जरूरत है।’

एक ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता है कि कोई मंदिर या गुरुद्वारा इलेक्ट्रिसिटी का इस्तेमाल उन लोगों को उठाने के लिए करते हैं जो उस धर्म का पालन नहीं करते। तो फिर ऐसा क्यों…?’

और फिर लास्ट ट्वीट में सोनू ने इसे गुंडागर्दी बता दिया। उन्होंने लिखा, ‘गुंडागर्दी है बस।’

जहाँ सोनू निगम के इन ट्वीट्स ने पुरे देश में बहस छेड़ दी वहीं, कांग्रेस के सीनियर नेता और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल ने इस मुद्दे पर अहम बयान दिया है। अहमद पटेल ने मंगलवार को ट्वीट करके कहा, ‘अजान नमाज का अहम हिस्सा है। आधुनिक तकनीक वाले आज के दौर में लाउडस्पीकर्स नहीं।’

पटेल का ये बयान कहीं न कहीं सोनू निगम को सपोर्ट करता हुआ दिखाई देता है….

वहीँ सोनू निगम ने अहमद पटेल को भी शुक्रिया कहा। सोनू ने लिखा, ‘संवेदनशील लोग इसी तरह किसी मुद्दे का मतलब निकालते हैं। मिस्टर अहम पटेल का सम्मान करता हूं। यह अजान या आरती के खिलाफ नहीं है। यह लाउडस्पीकर के खिलाफ है।’

वहीं सोनू निगम के अजान वाले ट्वीट पर पूजा भट्ट ने अपना गुस्सा दिखाते हुए दिया जवाब.. पूजा ने ट्वीट करते हुए लिखा की वह हर सुबह अजान और चर्च की घंटियों की आवाज से उठती हैं. साथ ही वह अगरबत्ती जलाती हैं और इस तरह भारतीयता को सलाम करती हैं.

वैसे इतने बवाल के बाद भी सोनू निगम ने कहा है कि वह अपने बयान पर कायम हैं। सोनू ने अपने रुख में थोड़ी सी नरमी दिखाते हुए ट्वीट करके कहा कि उनका बयान किसी धर्म के नहीं, बल्कि लाउडस्पीकर के इस्तेमाल के खिलाफ था। एक के बाद एक किए कई ट्वीट्स में सभी को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘…आपका स्टैंड आपका आईक्यू दर्शाता है। मैं अपने बयान पर कायम हूं कि मस्जिदों और मंदिरों में लाउडस्पीकर्स का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए।

वैसे सोनू ने इस मसले पर देश में बहस ज़रूर छेड़ दी है जहां कई लोग उनके बयान का कर रहे हैं विरोध तो बहुत सारे लोग उनके सपोर्ट में दिखे….
रजनी,सवांददाता,मुंबई

Leave a Reply

Top