You are here
Home > HOME > विश्वविद्यालय नियुक्तियों में आरक्षण समाप्त करने के विरोध में शिक्षकों का प्रदर्शन

विश्वविद्यालय नियुक्तियों में आरक्षण समाप्त करने के विरोध में शिक्षकों का प्रदर्शन

बोल बिंदास, दिल्ली ।कोर्ट आर्डर के बहाने मोदी सरकार द्वारा नए रोस्टर को लागू करके दिल्ली सहित पूरे देश के विश्वविद्यालयों की नियुक्तियों में आरक्षण समाप्त किये जाने के फैसले पर विरोध जारी :

यूजीसी द्वारा नए रोस्टर व्यवस्था लागू किये जाने के निर्देश के बाद से दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न कॉलेज के सैकड़ों शिक्षक दिल्ली विश्वविद्यालय के आर्ट्स फैकल्टी के समक्ष इसका विरोध करने Joint Action Committee to Save Reservation के तत्वाधान में रीले भूख हडताल किये।


सोमवार, 9 अप्रैल, 2018 को नई दिल्ली के आईटीओ से यूजीसी ऑफिस तक DUTA दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के तत्वाधान में कैंडिल मार्च करते हुए मोदी सरकार के विरुद्ध, विरोध प्रदर्शन किया गया।

शिक्षकों की माँग यह है कि कोर्ट आर्डर के बहाने मोदी सरकार द्वारा नए रोस्टर को लागू करके दिल्ली सहित पूरे देश विश्वविद्यालयों की नियुक्तियों में आरक्षण समाप्त किये जाने के फैसले को अविलम्ब वापस लिया जाय. शिक्षकों का आरोप है कि इससे नियुक्तियों में आरक्षण नाम-मात्र भी नहीं रहेगी . साथ ही नए रोस्टर को बनाये जाने के लिए (Recast) दिल्ली विश्वविद्यालय में अभी शुरू हुई नियुक्ति प्रक्रिया को कई महीने के लिए रोक दिया जायेगा. इसके बाद जब पुनः नियुक्ति शुरू होगी, तो संभवतः उसे ठेकेदारी व्यवस्था (Contractual System) के हवाले कर दिया जायेगा, जो उच्च शिक्षा के निजीकरण और व्यवसायीकरण की ओर ले जाने वाला है।

Leave a Reply

Top