You are here
Home > breaking > ‘रिलायंस फाउंडेशन’ का लक्ष्य, हर खेल में महाशक्ति बने भारत- नीता अंबानी

‘रिलायंस फाउंडेशन’ का लक्ष्य, हर खेल में महाशक्ति बने भारत- नीता अंबानी

बुधवार को कोच्चि में ‘रिलायंस फाउंडेशन यूथ स्पोर्ट्स’ की प्रतिष्ठित राष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिता का शुभारंभ हो गया। फाउंडेशन की चेयरपर्सन श्रीमती नीता अंबानी ने भरोसा दिलाया कि जल्द ही भारत एक बहुआयामी खेल महाशक्ति के तौर पर उभर कर सामने आएगा। अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति की सम्मानित सदस्य श्रीमती अंबानी ने भारत में खेलों के लिए बुनियादी स्तर पर एक मजबूत ढांचा बनाने की इच्छा जताई है। इसके तहत ना सिर्फ बच्चों और युवाओं को खेलों से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा, बल्कि सभी लड़के-लड़कियों को अपनी प्रतिभा को निखारने के लिए सही माहौल भी उपलब्ध कराया जाएगा।

कोच्चि के राजागिरी पब्लिक स्कूल में हुए उदघाटन समारोह में सैकड़ों स्कूली बच्चे हौंसलाअफजाई करने के लिए मौजूद थे। श्रीमती अंबानी ने औपचारिक तौर पर आरएफवाईएस के दूसरे सत्र का उदघाटन किया, जिसके साथ ही देश के 30 शहरों में खेली जानेवाली इस चैंपियनशिप का धमाकेदार आगाज हो गया है। इस कार्यक्रम में भारतीय फुटबॉल टीम के स्ट्राइकर और केरला ब्लास्टर्स के स्टार खिलाड़ी सीके विनीत भी मौजूद थे।

राजागिरी पब्लिक स्कूल और असिसी विद्या निकेतन के बीच उदघाटन मुकाबले से ठीक पहले श्रीमती अंबानी ने कहा, “देश के स्कूल-कॉलेजों में खेलों को फिर से जीवंत करने के लिए रिलायंस फाउंडेशन यूथ स्पोर्ट्स की स्थापना की गई है”। उन्होंने आगे कहा, “हमारा लक्ष्य है कि आरएफवाईएस के जरिये एक एकीकृत खेल ढांचा तैयार किया जाए और ओलंपिक के सभी मुख्य खेलों के लिए एक बड़ी योजना तैयार करें। हम देश के युवाओं को खेल में अपना शानदार करियर बनाने के मौके देना चाहते हैं ।”

इसमें कोई संदेह नहीं कि देश के खेल ढांचे को मजबूत करने के लिए आरएफवाईएस फुटबॉल प्रतियोगिता बड़ी और ठोस पहल साबित होगी। क्योंकि अगले पांच महीने तक चलनेवाले मुकाबलों में भारत के 3000 शैक्षिक संस्थानों के 60000 से भी ज्यादा बच्चे हिस्सा लेने जा रहे हैं।

पिछले साल प्रतियोगिता का पहला सत्र आठ आईएसएल शहरों में किया गया था, लेकिन इस साल बेंगलुरु, अहमदाबाद, शिलॉन्ग, आइजॉल, इंफाल, हैदराबाद और जमशेदपुर भी इसमें हिस्सा लेंगे। केरल और गोवा अपनी फुटबॉल प्रतिभाओं के लिए प्रसिद्ध हैं, लिहाजा आरएफवाईएस के 2017-18 सीजन के दौरान दोनों राज्य के सभी स्कूलों और कॉलेजों को शामिल किया गया है।

एक और वजह से ये उदघाटन समारोह यादगार बन गया क्योंकि इसी मौके पर कोच्चि के निर्मला कॉलेज के 20 वर्षीय अजीत सिवान को आगामी आईएसएल प्रतियोगिता के लिए केरला ब्लास्टर्स टीम में शामिल किया गया।

श्रीमती अंबानी ने गर्व के साथ कहा, “अजीत ने पिछले साल आरएफवाईएस प्रतियोगिता में अपनी बेजोड़ प्रतिभा का प्रदर्शन किया था। उन्होंने ऐसा शानदार खेल दिखाया कि ब्लास्टर्स ने उन्हें अपनी टीम का हिस्सा बना लिया है। हम देश के प्रमुख खेलों के लिए बुनियादी ढांचा तैयार करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमें यकीन है कि इस प्रतियोगिता के जरिये देश में कई अजीत सिवान उभरकर आएंगे।”

आरएफवाईएस राष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिता के मुकाबले जूनियर ब्वॉयज, सीनियर ब्वॉयज, सीनियर गर्ल्स और कॉलेज के लड़कों की चार श्रेणियों के तहत खेले जाएंगे। इसकी शुरुआत हर शहर में प्री क्वॉलिफाइंग राउंड से होगी,जिसके बाद विजेता का चुनाव करने के लिए मुख्य मुकाबले होंगे। शहरों की विजेता टीमों को राष्ट्रीय चैंपियन बनने के लिए एक दूसरे से प्रतिस्पर्धा करनी होगी।

रिलायंस फाउंडेशन यूथ स्पोर्ट्स मुख्य ड्रॉ के मुकाबलों से फाइनल तक सभी मैचों की वीडियो फुटेज तैयार करेगा। इससे खेल के चयनकर्ताओं को देश में छिपी प्रतिभाओं की पहचान करने में मदद मिलेगी। इतना ही नहीं इन वीडियो फुटेज के जरिये खिलाड़ियों की तकनीक की भी जांच करने में सहायता मिलेगी। युवा खिलाड़ियों की किसी भी खामी को शुरुआती स्तर पर ही पहचान कर सुधार लिया जाएगा।

Leave a Reply

Top