You are here
Home > breaking > राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, दिल्ली प्रान्त संघ शिक्षा वर्ग(प्रथम वर्ष) समापन कार्यक्रम

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, दिल्ली प्रान्त संघ शिक्षा वर्ग(प्रथम वर्ष) समापन कार्यक्रम

स्वदेशी को अपनाना ही हमारा लक्ष्य होना चाहिए. देश को मजबूत बनाने के लिए हमें चीन द्वारा बनाए जा रहे उत्पादों की जगह स्वदेशी उत्पादों पर जोर देना चाहिए. यह हमारे कार्यक्रमों व संकल्प से ही होगा. पूरे विश्व में चीन ने व्यापार अतिक्रमण नीति अपनाई है. जिसके कारण ख़राब उत्पाद विश्व के कई देशों के साथ- साथ भारत में भी भेज रहा है नतीजन स्थानीय व्यापार समाप्त होने के कागार पर हैं. यह व्यक्तव्य स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय संगठक कश्मीरी
लाल जी ने आरए गीता विद्यालय में संघ प्रशिक्षण वर्ग के समापन कार्यक्रम में दिया . उन्होंने कहा भीषण गर्मी में स्वयंसेवकों द्वारा की गई तपस्या समाज में साफ- साफ देखने को मिलेगी. संघ हमेशा से देश हित के लिए समर्पित रहा है. आज भी उसका कार्य निरंतर चलता आ रहा है.

कार्यक्रम की अध्यक्षता ओएनजीसी के निदेशक श्री संजय कुमार मोइत्रा ने की. स्वयंसेवकों के संकल्प की सराहना करते हुए उन्होंने कहा संघ देश भक्तों की टोली है. संघ हमेशा से समाज को सही दिशा में ले जाने के लिए प्रयास कर रहा है. संघ की प्रार्थना से हमें बहुत कुछ समझने को मिलता है. प्रार्थना में ही देश भक्ति का सार है. देश कैसा हो, देश में क्या होना चाहिए यह संघ के क्रिया कलापों से ही पता चल जाता है. हमारा देश हमारे नागरिकों से बनेगा उनकी समझ ही देश को परम वैभव पर लेकर जाएगी.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ दिल्ली प्रांत द्वारा संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) का रविवार को समापन कार्यक्रम आयोजित किया गया.इस वर्ग का मुख्य लक्ष्य शिक्षार्थियों को अनुशासन के साथ बौद्धिक एवं मानसिक विकास करना रहा. इस 20 दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग में कुल 388 शिक्षार्थियों ने शिक्षण प्राप्त किया. जिनमें विभिन्न राज्यों से आए शिक्षार्थियों ने भी शिक्षा ग्रहण किया. जिनमें दिल्ली समेंत पश्चिम महाराष्ट्र, तेलंगाना, छत्तीसगढ़ व जयपुर से भी 20 शिक्षार्थी रहे. जिनमें उद्योगपति 02, व्यवसायी/ कर्मचारी 59, अधिवक्ता/ डॉक्टर/इंजिनियर/ सीए18,पीएचडी स्कॉलर व परा स्नातक 27 व शेष स्नातक व 12 कक्षा के विद्यार्थी रहे.

Leave a Reply

Top