You are here
Home > NEWS > मोदी को नोटबंदी की भूल को स्वीकार कर लेना चाहिए- मनमोहन सिंह

मोदी को नोटबंदी की भूल को स्वीकार कर लेना चाहिए- मनमोहन सिंह

नई दिल्ली. पीएम मोदी द्वारा पिछले वर्ष लागू की गई नोटबंदी को कल 8 नवम्बर को एक साल हो जाएगा. इस मौके पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, इस नोटबंदी से देश को हुए नुकसान का जिक्र कर पीएम मोदी से हुई इस भारी गलती को स्वीकार करने की मांग की गई है .

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत वर्ष 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा करते हुए कहा था कि इससे काले धन, भ्रष्टाचार, नकली मुद्रा और आतंकवादियों के वित्त पोषण पर रोक लगेगी.लेकिन सभी विपक्षी दलों ने सरकार के इस फैसले की आलोचना की थी.इस मामले में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने केंद्र सरकार पर कटाक्ष कर नोटबंदी को ‘विनाशकारी आर्थिक नीति’ बताया.जो असमानता बढ़ाएगी.भारत जैसे विविधतापूर्ण देश में यह अब तक की सबसे बड़ी सामाजिक विपत्ति साबित होगी. इसके लिए मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस ‘भारी गलती’ को स्वीकार करने की मांग की.

बता दें कि एक डॉट कॉम से चर्चा में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि नोटबंदी एक विनाशकारी आर्थिक नीति साबित होने जा रही है.नोटबंदी के कारण कई आर्थिक, सामाजिक, प्रतिष्ठात्मक और संस्थागत नुकसान हुआ है. जीडीपी के गिरने से समाज के गरीब तबकों और व्यापार पर असर हुआ है.नोटबंदी से रोजगार तो प्रभावित हुआ ही है ,देश की तीनचौथाई गैर-कृषि रोजगार छोटे और मझोले उद्यमों को भी नुकसान हुआ है.हालाँकि जीडीपी में सुधार दिख रहा है, लेकिन फिर भी पूर्व पीएम ने नोटबंदी के दीर्घकालिक असर के बारे में चिंता प्रकट की.

Leave a Reply

Top