You are here
Home > breaking > प्रेस कांफ्रेंस : चित्र भारती फिल्म फेस्टिवल

प्रेस कांफ्रेंस : चित्र भारती फिल्म फेस्टिवल

नई दिल्ली। भारतीय चित्र साधना के तत्वाधान में आज प्रेस क्लब, नई दिल्ली में एक पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया। इस पत्रकार वार्ता में प्रसिद्ध फिल्मकार मधुर भंडारकर और भारतीय चित्र साधना के अध्यक्ष श्री आलोक कुमार ने पत्रकारों को अगले वर्ष फरवरी में होने वाले चित्र भारती फिल्मोत्सव की जानकारी दी।

श्री मधुर भंडारकर और श्री आलोक कुमार ने बताया की दिल्ली में 16 से 18 फरवरी, 2018 को लघु फिल्मों के फिल्म फेस्टिवल का आयोजन किया जाएगा। इसमें लघु फिल्म, वृत्तचित्र, एनीमेशन फिल्म, कैंपस फिल्म की श्रेणियों में प्रविष्टियां आमंत्रित हैं। कार्यक्रम के दौरान श्री मधुर भंडारकर ने चित्र भारती फिल्म फेस्टिवल 2018 के लिए बीसीएस की वेबसाइट भारतीय चित्र साधना डॉट कॉम (bhartiyachitrasadhna.com)” का भी उद्घाटन किया।

श्री आलोक कुमार ने बताया की बीसीएस ने चित्र भारती फिल्म समारोह के ‘लोगो’ के लिए ‘अखिल भारतीय लोगो (LOGO) डिजाइन प्रतियोगिता’ का आयोजित की थी। इस प्रतियोगिता की जूरी में नेशनल गैलरी ऑफ़ मॉडर्न आर्ट के महानिदेशक श्री अद्वैत गडनायक, अंतर्राष्ट्रीय कलाकार श्री वासुदेव कामथ और संस्कार भारती के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रज्ञा प्रवाह के राष्ट्रीय संयोजक श्री जे. नंद कुमार शामिल रहे। लोगो  प्रतियोगिता की विजेता मुंबई की सुश्री भुवी गुप्ता, वर्तमान में फ्रंट एंड में बतौर अभियंता के रूप में कार्यरत है। ग्राफिक डिजाइनिंग और वेब डेवलपिंग शौक है।

वही श्री मधुर भंडारकर ने कहा भारतीय चित्र साधना के जरिए दूर दराज के इलाकों में रह रहे लघु फिल्म निर्माताओं को मंच प्रदान करना है. भारत में कम बजट में भी अच्छी फ़िल्में बनाई जा सकती है. उन्होंने फिल्म इंदु सरकार का उदाहरण देते हुए कहा की कम बजट होने के बावजूद फिल्म को लोग बेहद पसंद कर रहे है. सेंसर बोर्ड के नवनियुक्त चेयरमैन श्री प्रसून जोशी पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा की फिल्म जगत ने उनके नाम का स्वागत किया है.

गौरतलब है की भारतीय चित्र साधना एक चेरिटेबल ट्रस्ट है। जो की भारत के सांस्कृतिक मूल्यों को लघु फिल्म, वृत्तचित्रों और एनिमेशन के लोकप्रिय माध्यम के जरिये लोगों तक पहुंचाने का काम करता है। भारतीय चित्र साधना ने अपना पहला फिल्मोत्सव 26-28 फरवरी 2016 को इंदौर में आयोजित किया था, इस दौरान 8 राज्यों से 309 प्रविष्टियां प्राप्त हुई थीं। इस फिल्मोत्सव में श्री मधुर भंडारकर, विवेक अग्निहोत्री, श्री मुकेश तिवारी, श्री राहुल रवेल, श्री मनोज जोशी, श्री विनोद मानकर और श्री राज दत्त व अन्य विद्वतजन उपस्थित रहे।

भारतीय चित्रा साधना भारत के सभी प्रमुख राज्यों में फिल्म प्रशंसा पाठ्यक्रम आयोजित करेगी, विशेष रूप से विश्वविद्यालय के परिसरों और फिल्म संस्थानों में देश के उभरते युवाओं से प्रविष्टियों को आमंत्रित करने के लिए अभियान चलाएगी।

 

Leave a Reply

Top