You are here
Home > MANORANJAN > ‘पहरेदार पिया की’ के कंटेंट से टीवी इंडस्ट्री दो गुटों में बंटा

‘पहरेदार पिया की’ के कंटेंट से टीवी इंडस्ट्री दो गुटों में बंटा

सोनी टीवी के सीरियल ‘पहरेदार पिया की’ को लेकर खूब बवाल मचा हुआ है.सोशल मीडिया और न्यूज पेपर्स से लेकर नॉर्मल चर्चाओं में भी इस शो का कंटेंट छाया हुआ है. इस शो में एक दस साल के बच्चे को ‘पिया’ और एक 18 साल की युवा लड़की को उसकी ‘पहरेदार’ बताया जा रहा है.

सीरियल की कहानी

आपको बता दें कि पहरेदार पिया की’ की कहानी एक 18 साल की लड़की और 10 साल के बच्चे की है जिनकी कुछ परिस्थितियों के चलते शादी हो जाती है. इस शो में कलर्स के शो ‘स्वरागिनी’ में रागिनी का किरदार निभा चुकी तेजस्वी प्रकाश वयंगंकर 18 साल की राजकुमारी दिया सिंह बनी हैं जो अपने 10 साल के पति की पहरेदार हैं. अफान खान इस शो में छोटे राजकुमार रतन सिंह के किरदार में दिखाई दे रहे हैं.

क्यों हैपहरेदार पिया कीको लेकर विवाद ?

एक 10 साल के बच्चे को एक 18 साल की मांग भरते दिखाए जाने के अलावा भी इस शो में कई ऐसी चीजें है जिसे लेकरबवाल मचाया जा रहा है. वो 18 साल की एक लड़की का दीवाना है. वो उसे छिपकर देख रहा है, हाथ में कैमरा लेकर उसका पीछाकर रहा है. ये लड़का 18 साल की एक लड़की की खूबसूरती की तारीफ करता है.

लड़की कॉकरोच से डरकर गिरने ही वाली होती है कि ये छोटा बच्चा उसे अपनी बाहों में लेकर बचा लेता है.

और सबसे ज्यादा अजीब ये कि वो लड़की का पल्लू पकड़कर उसे शादी के लिए प्रपोज भी करता है, कहता है ‘क्या आप हमसे शादीकरेंगी’

सबसे पहले टीवी इंडस्ट्री की तरफ से पॉपुलर एक्टर करण वाही ने अपना विरोध जताया था. करण वाही ने ‘पहरेदार पिया की’ केमेकर्स को शो के कंटेंट को लेकर जमकर लताड़ा.करण ने फेसबुक पर अपनी भावनाओं को व्यक्त करते हुए इस शो के कंटेंट कोलेकर कड़ा विरोध किया है.

करण वाही ने फेसबुक पर ‘पहरेदार पिया की’ के कंटेंट को आड़े हाथों लेते हुए एक पोस्ट शेयर किया था. हालांकि बाद ट्रोल कियेजाने पर करण ने अपने पोस्ट को डिलीट कर दिया था.

करण ने फेसबुक पर लिखा-

‘प्रिय निर्माता और चैनल .. मैं समझ सकता हूं कि हम ‘हाउ आई मेट योर मदर’ और ‘फ्रेंड्स’ जैसे शोज नहीं बना सकते औरईमानदारी से मैं उम्मीद भी नहीं करता. लेकिन भगवान के लिए और इस कारण कि हम सब इस इंडस्ट्री में हैं, प्लीज मुझे टीआरपीदेने वाले कंटेंट के नाम पर ये मूर्खता मत बेचिये. क्योंकि ईमानदारी से इसे कोई भी नहीं देख रहा है. दूसरे लोगों की बात को छोड़दें, मुझे लगता है कि हमारी बिरादरी के लोग ही इस शो को पसंद नहीं कर रहे हैं. हर कोई जो इस शो का हिस्सा है उसके लिए मैंअच्छा चाहता हूं और उन सब के लिए अच्छी तरह से प्रार्थना करता हूं. लेकिन हमें कोई ऑप्शन ना होने पर सिर्फ काम करने केलिए किसी शो से नहीं जुड़ना चाहिए बल्कि उस काम को एन्जॉय करना चाहिए. मैं ये सब अभिमान से नहीं बोल रहा हूं, लेकिन हमइससे बेहतर शो बना सकते हैं.

सुयश राय ने अपने शो के बचाव में क्या कहा ?

शो में मेल लीड के तौर पर दिखाई दे रहे सुयश राय अपने शो और इसके कंटेंट के सपोर्ट में आ गये . सुयश ने अपने सोशल हैंडलइंस्टाग्राम पर लम्बा चौड़ा मैसेज लिखा था.

सुयश ने लिखा था- दोस्तों जो भी करण वाही ने कहा है वो उनके अपने विचार हो सकते हैं उसपर मैं और आप सवाल नहीं उठासकते. लेकिन यह तथ्य नहीं बदलता है कि हम ‘पहरेदार पिया की’ की पूरी टीम इस शो से प्यार करते हैं और हम सभी ने इसकेलिए वाकई बहुत मेहनत की है और हम हमेशा करते रहेंगे. हम सिर्फ आपको एंटरटेन करना चाहते हैं. हमारा बाल विवाह या ऐसीकिसी भी चीज को बढ़ावा देना का कोई भी इरादा नहीं है. यह शो अलग है, प्लीज इसे जज ना करें ना ही किसी निष्कर्ष पर कूदेंयदि सोनी चैनल ने शो को मंजूरी दे दी है तो उन्होंने कुछ सोचकर ही ये किया होगा ??? यहां तक कि प्रोड्यूसर्स ने भी कुछसोचकर ही इतना बड़ा धन निवेश किया होगा. इसलिए मेरा आपसे अनुरोध है, पहले इसे देखें और फिर किसी निष्कर्ष पर कूदें यदि सोनी चैनल ने शो को मंजूरी दे दी है तो उन्होंने कुछ सोचकर ही ये कियाहोगा ??? यहां तक कि प्रोड्यूसर्स ने भी कुछ सोचकर ही इतना बड़ा धन निवेश किया होगा. इसलिए मेरा आपसे अनुरोध है, पहले इसे देखें और फिर किसी निष्कर्ष पर पहुचें. मैं गलत भी हो सकताहूं. लेकिन थोड़ा इंतजार करिये फिर कुछ तय करें. पहले एपिसोड के लिए इस तरह के अच्छे रिस्पॉन्स के लिए सभी को खूब सारा प्यार’.

क्या कहना है टीवी इंडस्ट्री का ?

सुमित मित्तल

शो के प्रोडूसर सुमित मित्तल का कहना है कि ‘हमने इस तरह के नेगेटिव प्रतिक्रिया का कभी एक्सपीरियंस नहीं किया था. हालांकि ये शो की पब्लिसिटी के लिए अच्छा है जब 30 सेकंड के प्रोमो कोदेख इतना हल्ला मचाया जा रहा है. बिना शो की पूरी कहानी जाने सिर्फ प्रोमो देखकर ही किसी निष्कर्ष पर पहुंच जाना बहुत आसान होता है. मैं लोगों की इस तरह की प्रतिक्रिया को गलत नहींमानता. लेकिन मुझे विश्वास है कि सीरियल को देखकर वक्त के साथ लोगों की सोच भी बदल जायेगी. हम वैसे शोज नहीं बनाते जो समाज के लिए अच्छे ना हों.

नारायणी शास्त्री

स्टार प्लस के शो ‘रिश्तों के चक्रव्यूह’ की मुख्य कलाकार नारायणी शास्त्री से जब पहरेदार पिया की के कांसेप्ट को लेकर चल रहे विवाद के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “मैंने शो के प्रोमोज नहींदेखें हैं, इसलिए मैं जज नहीं कर सकती. लेकिन शो के बारे में मैंने जो सुना है, 10 साल के लड़के की 18 साल की लड़की से शादी दिखा रहे हैं.ये कांसेप्ट बकवास है. 9 साल का लड़का हो या लड़कीइससे कोई फर्क नहीं पड़ता, यह विचार बेहद बकवास है’.

उन्होंने आगे कहा, “लेकिन शायद शो के निर्माताओं शो के जरिये ये बताने कि कोशिश कर रहे होंगे कि जो शो में दिखाई दे रहा है उसे रियल लाइफ में फॉलो नहीं किया जाना चाहिए’.

रवि दुबे

जी टीवी के शो जमाई राजा से देश में अपनी पहचान बनाने वाले एक्टर रवि दुबे का कहना है कि ‘मैंने अभी तक शो नहीं देखा है लेकिन इसके बारे में खूब सुन रहा हूं. हालांकि जहां तक स्टोरीलाइनकी बात है तो मेरा ये विश्वास है की हर किसी के अलग अलग विचार हो सकते हैं. मैं पहले खुद इसी देखना चाहूंगा तब भी इस पर कोई विचार रखूंगा

मिश्कत वर्मा

‘इच्छा प्यारी नागिन’ शो में काम कर चुके टीवी एक्टर मिश्कत वर्मा ने खुलकर इस शो को सपोर्ट किया है. मिश्कत जो खुद एक ऐसे शो में काम कर चुके हैं जिसमें एक नागिन इंसान का अवतारलेकर इंसानों के बीच रहती है शादी भी कर लेती है.मिश्कत कहते हैं कि इस शो को लेकर इतना हल्ला क्यों मचाया जा रहा है. इस शो में ना तो कोई इंसान किसी जानवर में बदलता हुआ दिख रहा हैना कोई जानवर इंसान में बदलता है. ना इसमें मास्क पहनकर किसी का चेहरा बदलते हुए दिखाई दे रहा है.ना ही इसमें मूर्ति पूजा या महा आरती दिखाई जा रही है और ना ही कोई अपशगुनदिखाया जा रहा है. दूसरी बात ये है कि हर किसी के अलग विचार हो सकते हैं. किसी तरह का शो देखने से किसी की मेंटालिटी पिछड़ी हुयी नहीं हो जाती है.

– साक्षी दीक्षित

 

Leave a Reply

Top