You are here
Home > HEALTH > बच्चो में नयी बीमारी – नोमोफोबिया

बच्चो में नयी बीमारी – नोमोफोबिया

नोमोफोबिया- फोन के बिना रहने का डर, यह नवीनतम जीवन शैली संबंधी विकार है जो हमारे जीवन को 
आजकल बहुत प्रभावित कर रहा है।

“मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकता,” दस साल पहले, लोग जिससे  प्यार करते थे, उनसे कहते थे। लेकिन अब यह  वाक्यांश उनके प्यार पर लागू नहीं होता,  जितना अब उनके फोन पर लागू करता है। आज कल जब लोग अपने मोबाइल फ़ोन से अलग होते हैं, तो फ़ोन की चिंता उन्हें तूफान की तरह हिट करती है| हाल ही के रिसर्च से यह पता चला है कि अधिकतर लोग नोमोफोबिया से पीड़ित हैं, यह लोग अपने फोन के बिना अकेला महसूस करते हैं। उन्हें इससे अस्वास्थ्यकर लगाव सा है। इस प्रकार, वे खुद को वास्तविकता से अलग कर रहे हैं।

नामोफोबिक के लक्षण

  • अगर आप रात में हर 2 घंटे में सिर्फ अपना फ़ोन देखने के लिए उठते है
  • आप लंच और डिनर के वक्त फोन चेक करते है
  • जब आपके फ़ोन की बैटरी खत्म होने वाली होती है, तब तक आपको घबराहट रहती है जब तक आप फ़ोन चार्ज पर नहीं लगा देते।
  • चाहे आप कितने व्यस्त हो, आप अपने फोन में आये मैसेज का रिप्लाई जरूर करते है
  • आप अपने फ़ोन को वाशरूम भी ले जाते हो
  • इस लेख को पढ़ते हुए आपने कम से कम दो बार अपना फ़ोन को चेक किया हो

यह हानिकारक है, क्योंकि

  • यह चिंता का एक कारण बनता है। जो लोग नोमोफोबिया के शिकार होते हैं, वे लोग अपने फोन से अलग होने पर चिंतित व परेशान होते हैं। यह उच्च रक्तचाप का कारण बनता है। यह एक व्यक्ति की एकाग्रता शक्ति को कम करता है, जो किसी की काम उत्पादकता को नुकसान पहुँचता है।
  • यह एक समय बर्बाद करने का तरीका है। जब आप दूसरे काम करते हैं, तो फ़ोन को देखना कम करें।
  • यह आपकी नींद के पैटर्न को प्रभावित करता है। आपके फोन से ब्लू लाइट एमिट होती है, जो आपके मस्तिष्क को संकेत देती है कि यह जागने का समय है, और यह मेलाटोनिन (melatonin) के बहाव को कम करता है, यह वो हार्मोन है जिससे आपको नींद आती है।
  • इससे आपकी स्किन भी परेशान होती है। लगातार फ़ोन से संपर्क बनाये रखने पर मुहांसे, एलर्जी और काले धब्बे भी होते है।
  • यह परिवार और दोस्तों के साथ आपके संबंध को प्रभावित व ख़राब करता है, इस प्रकार आपकी सामाजिक कौशल व सोशल लाइफ प्रभावित होती है।

कैसे निपटे नोमोफोबिया से   

  • सोने से पहले अपने फोन को बंद कर दें
  • आपके फोन में कस्टम नोटिफिकेशन का इस्तेमाल करें, लगातार नोटिफिकेशन से ध्यान भटकता है
  • जिन ऍप्लिकेशन्स की जरूरत नहीं है उन्हें डिलीट कर दीजिए
  • फोन ब्रेक लो
  • अपने दोस्त और परिवार वालों के साथ ज्यादा समय व्यतीत करें, फिल्मे देखने सिनेमा हॉल जाएं … फ़ोन का प्रयोग कम करें।

-साक्षी दीक्षित

Leave a Reply

Top