You are here
Home > breaking > एमसीडी चुनाव 2017: हाउस टैक्स के नाम पर केजरी की गुगली से बौखलायी दूसरी पार्टियां, रणनीति बदलने में जुटी

एमसीडी चुनाव 2017: हाउस टैक्स के नाम पर केजरी की गुगली से बौखलायी दूसरी पार्टियां, रणनीति बदलने में जुटी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एमसीडी चुनाव में एक गुगली फेंक दी है. आम आदमी पार्टी द्वारा फेंके इस गुगली में विपक्षी पार्टियां फंसती हुई नजर आ रही हैं.
अरविंद केजरीवाल ने एमसीडी चुनाव में जीत हासिल करने पर हाउस टैक्स माफ करने का एलान किया है. दिल्ली नगर निगम 2017 के चुनाव में अरविंद केजरीवाल का हाउस टैक्स माफ करने का मुद्दा एक बड़ा चुनावी दांव साबित हो सकता है.
अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की है कि दिल्ली नगर निगम चुनाव में आप सत्ता में आती है तो हाउस टैक्स खत्म करने के साथ-साथ, सालों से बकाया हाउस टैक्स भी माफ कर दिए जाएंगे.
अरविंद केजरीवाल के हाउस टैक्स माफ करने के एलान के बाद दूसरी पार्टियों की नींद उड़ गई है. दूसरे पार्टियों के रणनीतिकारों ने आम आदमी पार्टी के इस दांव का तोड़ निकालने के लिए एक टीम का गठन किया है.
आम आदमी पार्टी के इस गुगली का तोड़ निकालने के लिए विपक्षी पार्टियां अपनी रणनीति में भी बदलाव करने जा रही है.आप के एलान के बाद कांग्रेस और बीजेपी अपनी रणनीति में बदलाव में लग गई है.
कांग्रेस पार्टी ने आप के इस वायदे के बाद अपनी रणनीति में बदलाव करना शुरू कर दिया है. कांग्रेस पार्टी भी हाउस टैक्स और एमसीडी के खाली पड़े जमीनों और सामुदायिक भवनों को लेकर कुछ बड़ा एलान कर सकती है.
कांग्रेस पार्टी ने आप के इस चुनावी दांव का काट तैयार करने लिए अपनी टीम को लगा दिया है.
कांग्रेस और बीजेपी दोनो पार्टी के नेता अभी इस बारे में ऑन द रिकॉर्ड कुछ भी नहीं बोल रहे हैं मगर ऑफ द रिकॉर्ड बताते हैं कि आप का यह एक बड़ा दांव है, जिसे पार्टी के रणनीतिकार बहुत गंभीरता से ले रहे हैं.
दिल्ली में हुए पिछले कुछ सालों में मिले चुनावी अनुभव के कारण कांग्रेस और बीजेपी के नेता फूंक-फूंक कर कदम उठा रहे हैं. दिल्ली का रिकॉर्ड बताता है कि जब-जब आम आदमी पार्टी ने आम लोगों से जुड़े मुद्दों को हवा दी है परिणाम उसके पक्ष में ही रहा है.
विधानसभा चुनाव में अरविंद केजरीवाल का सस्ती बिजली और मुफ्त पानी देने का फैसला विपक्षी पार्टियों पर भारी पड़ा था. पिछले विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की जबरदस्त जीत में मुफ्त पानी और सस्ती बिजली देने का मुद्दे का बड़ा योगदान रहा है.
आम आदमी पार्टी अपने चुनावी अभियान में बीजेपी पार्षदों पर पैसे की लूट और भ्रष्टाचार का मुद्दा खूब उछाल रही है. आम आदमी पार्टी के नेता आंकड़ों के साथ एक-एक पार्षदों पर हमला बोल रहे हैं.
आप बीजेपी पार्षदों का पिछले 10 सालों में किए गए कामों का और उनके द्वारा किए घोटालों का पोल खोल रही है. आप नेताओं का आरोप है कि बीजेपी के एक-एक पार्षद दस सालों में पैसे लूट कर स्कूटर से लग्जरी गाड़ियों में चलने लगे हैं.
आप नेताओं का कहना है कि सत्ता में आने पर इन पार्षदों की लूट पर जांच कराएंगे और दोषियों को जेल भेजेंगे.
दिल्ली में इस समय 45 लाख रजिस्टर्ड मकान हैं. दिल्ली के अनधिकृत कॉलोनियों में हाउस टैक्स नहीं लिया जाता है. तीनों नगर-निगम मिला कर हर साल लगभग 6 सौ करोड़ टैक्स वसूलती है.
वहीं बीजेपी भी केजरीवाल पर हमला बोल रही है. बीजेपी ने आरोप लगाया है केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार को कैंटीन बनाने के लिए 60 करोड़ रुपए का आवंटन किया था, लेकिन वह कैंटीन अभी तक नहीं बनी है.
दिल्ली सरकार को दो लाख पब्लिक टॉयलेट्स बनाने थे पर अभी तक दो हजार भी नहीं बन पाए हैं . आप ने दिल्ली के अस्थाई कर्मचारी को स्थाई करने का वादा किया था जो अभी तक पूरा नहीं किया गया है.
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अरविंद केजरीवाल पर कई आरोप लगाए. शाह ने अरविंद केजरीवाल से महिलाओं की सुरक्षा और भ्रष्टाचार पर कई सवाल किए और आरोप भी लगाया.
अमित शाह ने आप आरोप लगाया कि केजरीवाल ने 13 वायदे किए लेकिन अभी तक तीन वायदे भी पूरे नहीं किए. इसके विपरित आप के 13 विधायकों पर भ्रष्टाचार के आरोप लग गए.
दिल्ली के तीनों नगर निगम के लिए 23 अप्रैल को चुनाव होने हैं. 26 अप्रैल को वोटों की गिनती होगी. आम आदमी पार्टी पहली बार नगर निगम का चुनाव लड़ रही है.
बीजेपी ने एमसीडी चुनाव में सभी नए चेहरे को लेकर मैदान में उतरने का फैसला किया है जिसके लिए पार्टी को अभी तक 30 हजार से भी ज्यादा आवेदन मिल चुके हैं. बीजेपी के सूत्र के मुताबिक अगले एक-दो दिनों में पार्टी अपने उम्मीदवारों का एलान करने वाली है.

Leave a Reply

Top