You are here
Home > breaking > एमसीडी चुनाव 2017 : बीजेपी के प्रचार को खुलकर मैदान में उतरेगा संघ

एमसीडी चुनाव 2017 : बीजेपी के प्रचार को खुलकर मैदान में उतरेगा संघ

नई दिल्ली: अगले महीने होने वाले एमसीडी चुनाव आम आदमी पार्टी के साथ बीजेपी की भी साख का सवाल बन गए हैं। दिल्ली बीजेपी की मदद के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय नेता तो एमसीडी चुनाव जीतने के लिए रणनीति बनाने में जुटे ही हैं साथ ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भी अब खुलकर बीजेपी की मदद करता दिख रहा है।

संघ के दिल्ली प्रांत के सह संघचालक आलोक कुमार ने हालांकि यह कहा कि संघ राजनीति में कोई भूमिका नहीं निभाता। लेकिन साथ ही कहा कि संघ अपने स्वयंसेवकों से उम्मीद करता है कि वह एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते लोगों को अवेयर करेंगे कि वह वोट देने जरूर जाएं। साथ ही उम्मीद है कि स्वयंसेवक यह कोशिश करेंगे कि लोग राष्ट्रीय मुद्दों पर वोट दें। भारत तेरे टुकड़े होंगे का नारा लगाने वालों और उनका समर्थन करने वालों का साथ ना दें। गौरतलब है कि बीजेपी लगातार आम आदमी पार्टी पर यह कहकर निशाना साधती रही है और कि वह देश तोड़ने वाली ताकतों का साथ दे रही है। संघ नेता ने कहा कि स्वयंसेवक लोगों को अवेयर करेंगे कि वह राष्ट्रवादियों का साथ दें। साफ संकेत है कि इस बार संघ महज बैकग्राउंड में ही नहीं रहेगा बल्कि बीजेपी को एमसीडी में जीत दिलाने के लिए फ्रंटफुट पर काम कर रहा है।

सूत्रों के मुताबिक आमतौर पर संघ लोकल बॉडी इलेक्शन में अपने स्वयंसेवकों को काम करने को नहीं कहता है। लेकिन इस बार एमसीडी चुनाव हर बार के चुनाव के मुकाबले ज्यादा अहम हैं। भले ही यह दिल्ली की म्युनिसिपल कॉरपोरेशन के चुनाव हैं लेकिन इसका संदेश राष्ट्रीय स्तर पर जाएगा। यूपी, उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में जीत के बाद बीजेपी की अनबीटेबल इमेज को कायम रखना चाहती है ताकि इस साल के अंत में होने वाले गुजरात चुनाव और फिर हिमाचल प्रदेश के चुनाव में उसका पॉजिटिव असर दिखे। इसलिए दिल्ली एमसीडी चुनाव बीजेपी की दिल्ली में ही साख का सवाल नहीं है बल्कि देशभर में बीजेपी के पक्ष में माहौल को मजबूत रखने के लिए भी अहम है। आलोक कुमार ने बताया कि दिल्ली में संघ की 1805 शाखाएं लगती हैं। आगामी साल में इनमें 15 पर्सेंट की बढ़ोतरी का अनुमान है। दिल्ली में ही संघ के करीब 462 सेवा प्रकल्प भी चल रहे हैं। जो झुग्गी बस्तियों में रहने वालों लोगों की सशक्तिकरण का काम कर रहे हैं।

Leave a Reply

Top