You are here
Home > NEWS > 2019 के लिए होकर रहेगा सपा-बसपा गठबंधन: मायावती

2019 के लिए होकर रहेगा सपा-बसपा गठबंधन: मायावती

राज्यसभा चुनाव में बसपा प्रत्‍याशी भीमराव अंबेडकर की हार के बाद पार्टी सुप्रीमो मायावती ने आज लखनऊ में बड़ी बैठक बुलाई। पहले मायावती बसपा विधायकों से मिलीं और फिर पार्टी के जोनल कोऑर्डिनेटर्स के साथ मीटिंग की। ये बैठक करीब बीस मिनट तक चली। उन्होंने पार्टी नेताओं को स्पष्ट संकेत दिया कि बीजेपी के खिलाफ सपा-बसपा का गठबंधन होकर रहेगा।

मायावती ने कहा कि जो लोग बसपा-सपा के गठबंधन पर अलग-अलग टिप्पणियां कर रहे हैं। उन्होंने कहा, मैं बताना चाहती हूं कि ये गठबंधन व्यक्तिगत लाभ के लिए नहीं बल्कि जनता के कल्याण के लिए है। ये बीजेपी की गलत नीतियों के खिलाफ है। हमारे गठबंधन का दिल से देश में स्वागत किया गया है। हमारे ऊपर बीजेपी की बेकार की टिप्पणियों का कोई असर नहीं पड़ेगा। 2019 में बीजेपी को केंद्र में आने से रोक देंगे।

उन्‍होंने कहा कि मोदी और उनकी पार्टी बीजेपी ने साढ़े चार साल में अल्पसंख्यकों, पिछड़े वर्ग और दलित समुदाय के नाम पर बहुत नाटक किए हैं, लेकिन अब न तो उन्हें और न ही उनकी पार्टी को इन नाटकों का कोई राजनीतिक लाभ मिलेगा।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बीआर अंबेडकर का न्यायसंगत सामाजित व्यवस्था और मानवताबादी भारत बनाने का सपना बीजेपी और आरएसएस शासन में कभी पूरा नहीं होगा। बीजेपी की विचारधारा अंबेडकर की विचारधारा और संविधान के खिलाफ है।

बैठक में बसपा के जोनल कोऑर्डिनेटर, पार्टी पदाधिकारी के साथ-साथ विधायक और पूर्व विधायक शामिल हुए। मायावती ने पहले पार्टी विधायकों के साथ बैठक की।

Leave a Reply

Top