You are here
Home > NEWS > कुलभूषण जाधव केस: आज होगी अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में सुनवाई

कुलभूषण जाधव केस: आज होगी अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में सुनवाई

पाकिस्तान की सैन्य अदालत द्वारा कथित जासूसी के जुर्म में मौत की सजा का सामना कर रहे भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की दया याचिका पर आज इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) में सुनवाई होगी। जाधव को मौत की सजा सुनाए जाने के खिलाफ भारत ने ‘आईसीजे’  में अपील की थी। आईसीजे ने फिलहाल जाधव की फांसी पर रोक लगा रखी है।

इससे पहले पाकिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्री अहसन इकबाल ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान सरकार अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) में भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले को प्रभावी तरीके से उठा रही है। क्योंकि ये चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) में रोड़ा अटकाने की भारत की मंशा का सबूत है।

पाकिस्तानी सेना की तरफ से कहा गया है कि आर्मी चीफ जाधव के खिलाफ सबूतों का विश्लेषण कर रहे हैं और उनकी दया याचिका पर मेरिट के आधार पर फैसला करेंगे। पाकिस्तान की मिलिटरी कोर्ट द्वारा दया याचिका खारिज होने के बाद जाधव ने पाक आर्मी चीफ के यहां दया याचिका दाखिल की थी।

आईसीजे ने भारत को जाधव मामले में और दस्तावेज जमा करने के लिए 13 सितंबर तक का वक्त दिया था, जबकि पाकिस्तान को 13 दिसंबर तक अपना पक्ष रखना है। भारत पाकिस्तान से जाधव तक राजनयिक पहुंच की 16 बार मांग कर चुका है लेकिन हर बार पाकिस्तान ने इस मांग को ठुकराया है।

जाधव पर दोनों देशों के यह हैं दावे

पाकिस्तान का दावा है कि जाधव भारतीय नौसेना के सर्विंग ऑफिसर हैं और उन्हें बलूचिस्तान के मश्केल से गिरफ्तार किया गया है जबकि भारत का कहना है कि जाधव नेवी के रिटायर्ड अफसर हैं।

भारत ने जाधव की बलूचिस्तान से गिरफ्तारी की पाकिस्तान के दावे को खारिज करते हुए कहा है कि रिटायर्ड अफसर को ईरान से अगवा किया गया था। जाधव नौसेना से रिटायर होने के बाद ईरान में बिजनस करते थे।

जाधव की मां को नहीं दे रहा मिलने

पाकिस्तानी सेना जाधव को दोषी बताते हुए 2 बार उनके कथित कबूलनामों का विडियो जारी कर चुकी है। कथित कबूलनामे के दोनों ही विडियो में कई कट हैं और उन्हें एक से ज्यादा कैमरों से शूट किया गया है। भारत का कहना है कि पाकिस्तानी सेना ने टॉर्चर कर जाधव के बयान रिकॉर्ड कराए हैं।

पाकिस्तान न सिर्फ जाधव तक भारत के राजनयिक पहुंच की मांग खारिज करता रहा है बल्कि जाधव की मां को उनसे मिलने के वीजा देने से भी आनाकानी कर रहा है। जाधव की मां ने अपने बेटे से मिलने के लिए पाकिस्तानी वीजा के लिए आवेदन किया है लेकिन पाकिस्तान ने उन्हें वीजा जारी नहीं किया है।

Leave a Reply

Top