You are here
Home > HEALTH > जोड़ो के दर्द को कैसे करें दूर ।

जोड़ो के दर्द को कैसे करें दूर ।

जोडों के दर्द से मुक्त होने के उपाय Yoga Lovers ने बताए।

सामाजिक एवं आध्यात्मिक अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पंचम योग गुरु सुनील सिंह जी के सानिध्य में Yoga Lovers ने 3.12.2017 को आर्य समाज मन्दिर, इन्द्र पुरी के प्रांगण में न्यूरोथेरपिस्ट श्रीमती मंजू अग्रवाल के सहयोग से आठवीं कार्यशाला का आयोजन डॉ मान्या दत्ता, श्री अनिल कौल और योगी प्रकाश दुबे एवं पिलाटिस एक्सपर्ट योगी सचिन के संरक्षण में आयोजित किया गया।

इस कार्यशाला का प्रारंभ योगी शुभम सिंह ने वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि सम्प्रभम, निर्विघ्नं कुरुमेव देव सर्वकार्येषु सर्वदा के मंत्र का उच्चारण करते हुए योगिनी मंजु छेत्री के साथ मिलकर कार्यशाला में मंच संचालन किया।

इस कार्यशाला के प्रथम वक्ता आयुर्वेदाचार्य अभिषेक बंसल ने नियमित रूप से सवेरे की सैर एवं मसाला रहित भोजन, पौष्टिक आहार करने की सलाह देते हुये अपने जीवन में फलों का भरपूर सेवन करने का सुझाव दिया।

द्वितीय वक्ता योगिनी ज्योति तोमर ने सूक्ष्म क्रियाएं बताते हुए योगिनी साक्षी सिंह के सहयोग से कार्यशाला में आए हुए सभी साधकों को विभिन्न प्रकार के आसन बताते योग करवाया और बताया कि नियमित रूप से व्यायाम करने से शरीर में हो रहे जोडों के दर्द से निजात पा सकते हैं।

इस कार्यशाला की तीसरी वक्ता श्रीमती मंजू अग्रवाल, न्यूरोथेरपिस्ट ने बताया कि विश्व में न्यूरोथेरपी स्वर्गीय लाला लाजपतराय मेहरा जी की देन है। इस पद्धति से जटिल से जटिल रोग का इलाज बिना दवाओं से भी हो सकता है।

इस कार्यशाला के मुख्य वक्ता अंतराष्ट्रीय पन्चम योग गुरु सुनील सिंह ने सबसे आग्रह करते हुए कहा कि अपने को स्वस्थ रखने के लिए हमारे शरीर को विटामिन डी की अत्यंत आवश्यकता होती है, इसलिए धूपपान हमें अवश्य करना चाहिए। प्रतिदिन गुनगुने पानी का सेवन भी अनिवार्य है विशेष रूप से जिन्हें जोडों का दर्द हो। प्रातःकाल में यदि गुनगुना पानी न ले सकें तो छोटे से अदरक के टुकड़े को मुँह में रख चबा चबा कर उसका रसपान करते हुए ठंडे जल से भी ले सकते हैं।
दिन में दो बार भोजन के पश्चात बराबर मात्रा में मेथी दाने, सोंठ, हल्दी लेने से भी जोडों के दर्द को ठीक कर सकते हैं एवं जड़ से शरीर को निरोगी काया बना सकते हैं।

इस कार्यशाला में लगभग 60 लोगों की संख्या थी। जिनमें से बहुत से व्यक्ति जोडों के रोग से ग्रसित थे। उचित एवं सम्बन्धित जानकारी प्राप्त कर सभी साधक हर्षित हुए और अंत में योग गुरु सुनील सिंह जी से साधकों ने अनेक प्रश्न किए एवं उनका उत्तर पाकर सन्तुष्ट होकर कार्यशाला का समापन किया।

YOGA LOVERS  का प्रयास प्रत्येक कार्यशाला में जनजागरण में विभिन्न प्रकार के रोगों से मुक्त हो स्वस्थ रहने की जागरूकता देना है। अपने देश को रोग मुक्त करने का एक संकल्प है।

Leave a Reply

Top