You are here
Home > HOME > जाधव की फांसी पर अंतरराष्ट्रीय अदालत ने लगाई रोक

जाधव की फांसी पर अंतरराष्ट्रीय अदालत ने लगाई रोक

बोल बिंदास

हेग, अंतर्राष्ट्रीय अदालत (ICJ) की 11 जजों की बेंच ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा पर अंतरराष्ट्रीय अदालत का फैसला आने तक रोक लगा दी है. जाधव को पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने पाकिस्तान में जासूसी करने और विध्वंसात्मक गतिविधिया करने के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है.

अदालत के इस फैसले को भारत की जीत माना जा रहा है. भारत ने 8 मई को जाधव की फांसी की सजा पर रोक लगाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय अदालत का दरवाजा खटखटाया था. ICJ ने जाधव की फांसी को तबतक रोकने का निर्देश पाकिस्तान को दिया है जब तक ICJ का कोई फैसला इस मामले पर नही आ जाता.

ICJ के अध्यक्ष रोनी अब्राहम ने कहा कि 11 जजों की पीठ ने ये फैसला सर्वसम्मति से लिया है. अदालत ने कहा कि वियना कन्वेंशन के अनुसार भारत को अपने नागरिक से मिलने का मौका मिलना चाहिए क्योंकि दोनो देशों ने 1977 में इसमें हस्ताक्षर किए हैं. साथ ही ICJ ने इस मामले पर सुनवाई अपने अधिकार क्षेत्र में होने की बात भी दोहराई. अदालत ने ये भी कहा कि जाधव की गिरफ्तारी कहां से और किन परिस्थितियों में की गयी उस पर भी विवाद है. पाकिस्तान का दावा है कि जाधव की गिरफ्तारी बलुचिस्तान से पिछले साल 3 मार्च को गयी थी जब वो ईरान से पाकिस्तान में घुस रहे थे. भारत का ये कहना है कि उनका ईरान से अपहरण किया गया है जहां वो सेना से रिटायर होने के बाद अपना व्यवसाय कर रहे थे.

जाधव का मामला भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव का कारण बन गया है. हालांकि अदालत के इस फैसले पर पाकिस्तान की क्या प्रतिक्रिया होगी, क्या वो इस निर्णय को मानेगा या फिर वो अपने बनाये कानून पर ही चलेगा ये देखना होगा,फिलहाल तो भारतवासियों के लिए राहत की बात है लेकिन पाकिस्तान की नीयत को देखते हुए उस पर भरोसा करना कितना ठीक होगा, कहा नही जा सकता.

Leave a Reply

Top