You are here
Home > NEWS > भारतीय नहीं चाहते कि भारत रत्न पुरस्कार बदनाम हो

भारतीय नहीं चाहते कि भारत रत्न पुरस्कार बदनाम हो

राजीव तुली , प्रचार प्रमुख, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ दिल्ली प्रांत 

सेवा की आड़ में हिन्दुओं को Christian बनाने का ईनाम दिया है? 1979 में नोबेल मिलने के ठीक बाद 25 जनवरी 1980 में पूरी योजना के साथ कांग्रेस ने मदर टेरेसा को किस बात के लिए भारत का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न दिया?. ताकि वो एक ब्रांड बन जाए बिना रोक टोक के और हुआ भी यही और नतीज इतना भयावह है कि पूरे नार्थईस्ट को Christian बना दिया गया. हद तो तब हो गई जब चर्च में पादरी बलात्कार करते है वो भी एक नहीं, दो नहीं तीन नहीं पांच-पांच पादरी. और ये सिलसिला ही नहीं रुकता है बलात्कार के बाद पीड़ितों के बच्चों को बेचने का कुकृत्य करने का खेल जारी है.  साल 2014 में भी मिशनरीज ऑफ चैरिटी पर चाइल्ड ट्रैफिकिंग के आरोप लगे थे। मिशनरीज ऑफ चैरिटी के 5 संगठनों के खातों में विदेश से करोड़ो रुपए का चंदा आया है.

Leave a Reply

Top