You are here
Home > MANORANJAN > रील से रीयल में हीरो-कोरोना काल की सकारात्मक कहानियां

रील से रीयल में हीरो-कोरोना काल की सकारात्मक कहानियां

कोरोना काल में दुनिया में बहुत से चेहरों से नकाब उतर गए। एक तरफ कुछ लोग अपने घरों में बैठकर अपना समय सरकार, प्रशासन की आलोचना में लगा रहे थे वहीं दूसरी ओर ऐसे लोगों की भी कमी नहीं थी जो अपनी जान की परवाह किए बिना जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए लगातार काम कर रहें थे। मुंबई फिल्म इंडस्ट्री के भी कई रंगों से जनता का परिचय हुआ। अनेक कलाकार इस काल में लोगों की मदद के लिए आगे आये। कुछ लोगों ने प्रधानमंत्री केयर फंड में पैसा दान करके सरकार की मदद की वहीं कुछ लोग ऐसे भी थे जो उनके इस कार्य की प्रशंसा करने की बजाय उनकी खिंचाई करने में लगे हुए थे। दान की कोई घोषणा करता है क्या, चुपचाप दान करना चाहिए था। दान का ढिंढोरा नहीं पीटना चाहिए था वगैरह वगैरह। ऐसे में एक अभिनेता ऐसा भी निकला जो रील हीरो की भूमिका को रियल लाइफ में निभाता नज़र आया। वो है हिंदी फिल्मों के नायक सोनू सूद।

कोरोना वायरस के चलते सरकार ने देशभर में लॉकडाउन लागू कर रखा है। सरकार के इस कदम से प्रवासियों को काफी परेशानी भी हो रही है क्योंकि ऐसे में सारा यातायात भी प्रतिबंधित है। प्रवासी मजदूर ऐसे में अपने कंधे पर ही सामान रखकर पैदल अपनी मंजिल की ओर चल रहे थे। उनके हालात पर तो कई लोग सोशल मीडिया पर सक्रिय होकर टिप्पणियां कर रहे थे। सरकार भी उनकी मदद के लिए आगे आ रहीं थी। लेकिन कहीं ना कहीं दी जाने वाली मदद कम पड़ रही थी। ऐसे समय पर प्रवासियों की मदद के लिए बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद सामने आए।

सोनू सूद ने प्रवासियों के लिए बसों का इंतजाम किया है। इसमें उन्हें उनके शहरों में वापस भेजा जा रहा है। उनकी सुरक्षित एवं आरामदेह यात्रा के लिए भोजन पानी की व्यवस्था भी की। सरकार से सारी जरूरी पर्मिशन का काम भी किया। सोनू के इस कार्य की प्रशंसा ना केवल मदद पाने वाले लोग कर रहें हैं, पूरा देश उनकी तारीफ कर रहा है। सही बात है आम लोगों से करोड़ो रुपये कमाने वाले लोग जब घरों में बैठकर हर बात में सरकार को कोस रहें हैं उस समय सोनू का सड़कों पर उतर कर जरूरतमंद लोगों के साथ खड़ा होना वाकई काबिले तारीफ है।

Top