You are here
Home > HOME > श्री गुरु गोबिंद सिंह जी की दुनिया में कोई मिसाल नही मिलती-मनोज तिवारी

श्री गुरु गोबिंद सिंह जी की दुनिया में कोई मिसाल नही मिलती-मनोज तिवारी

श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी की दुनियां में कोई मिसाल नहीं मिलती-मनोज तिवारी
नई दिल्ली। लोकप्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के आह्वान पर राष्ट्रीय सिख संगत एवं श्री गुरु सिंह सभा-झड़ौदा माजरा, हरदेव नगर, उत्तरी दिल्ली में श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी के 350 वें प्रकाश पर्व वर्ष समागम में संगतों से विचार सांझे करते हुए मुख्य मेहमान श्री मनोज तिवारी, सांसद, अध्यक्ष-भाजपा दिल्ली प्रदेशद्ध ने कहा कि दुनिया में श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी के त्याग, बलिदान, समर्पण की कोई दूसरी मिसाल नहीं मिलती। देश के कोने कोने से पिछडे़ तथा सभी वर्गों से पांच प्यारों के रूप में खालसा सजाकर जो सामाजिक समरसता का इतिहास रचा, सारी दुनियां के देश उसको अपनाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। आज के विश्व गुरु बनने जा रहे भारत की भी यही प्रेरणा है। सर्वंशदानी श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी देश, धर्म, समाज की रक्षा के लिए पहले अपने पिता को, पश्चात अपने बडे़ बेटे बाबा अजीत सिंह, बाबा जुझार सिंह को लाखों की मुगल सेना के सम्मुख अपने हाथों सजाकर हजारों मुगल सैनिकों को मौत के घाट उतरवाकर तथा पश्चात शहीदी प्राप्त करना। 9 और 7 वर्ष के बाबा जोरावर सिंह बाबा पफतेह सिंह ने धर्म की रक्षा के लिए दीवारों में चुनना स्वीकार कर, जो आने वाली पीढ़ियों को रास्ता दिखाया, जब तक सूरज-चांद रहेगा, सर्वंशदानी श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी प्रकाश स्तम्भ ,चानन मीनारद्ध का कार्य करते रहेंगे।
विशिष्ठ मेहमान स. अरविन्दर सिंह लवली ने आह्वान करते हुए कहा कि श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी ने हम सबको जिस प्रकार का देश, धर्म, समाज की रक्षा के लिए जीने का रास्ता दिखाया, उसे अपनाकर हम न केवल उनकी शिक्षाओं को देश के कोने-कोने में पहुंचा सकते हैं बल्कि हिन्दुस्थान को पिफर से खालसा राज अर्थात् रामराज में बदलकर विश्व की अशान्त मानवता को भाईचारे, सुख-शान्ति का अमृत पिला सकते हैं। स्वर्गीय बाबा विरसा सिंह से 300 साला गुरता गद्दी वर्ष में अमृत छककर श्री बेकुण्ठ लाल शर्मा प्रेम सिंह ‘शेर’ तथा उनकी सह-धर्मनी बीबी कृष्णा कौर ने भी श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी को युगावतार बताकर अपनी श्रद्धा प्रकट की। राष्ट्रीय सिख संगत के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन श्री अविनाश जायसवाल जी ने श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी को हिन्दुस्थान के जन-जन का मसीहा बताते हुए कहा कि उनके खालसा सिरजना के कारण से ही आज उत्तर भारत हिन्दुस्थान का अखण्ड हिस्सा है। संचालन कर रहे संगत के प्रदेश मंत्री श्री अनिल वर्मा, प्रधानमंत्री द्वारा गठित केन्द्रीय कमेटी के सदस्य डॉ. अवतार सिंह शास्त्री, स. अमनजीत सिंह बक्शी, श्री गुरु सिंह सभा के अध्यक्ष स. रमिन्दर पाल सिंह, स. जसपाल सिंह, स. कुलवंत सिंह, श्री राजपाल राणा, श्री मुलखराज वर्मा, श्री निखिल वर्मा, श्री राकेश त्यागी, श्री दीपक गुप्ता ने बोले सो निहाल-सत् श्री अकाल के जयकारों के साथ मुख्य मेहमान श्री मनोज तिवारी को शाल, सिरोपा, खड़ग, श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी का चित्र देकर भारी संगतों की उपस्थिति में सम्मानित किया। अध्यक्षता कर रहे जत्थेदार अवतार सिंह, संगत ऑफ़ अमेरिका के अध्यक्ष स. देवेन्दर सिंह साहनी तथा अनेक उपस्थित विशिष्ट मेहमानों का सिरोपा देकर सम्मान किया गया। समूह संगतों में संगत के प्रदेश अध्यक्ष स. महिन्दर सिंह बाली, एन.सी.आर. के महामंत्री स. किरणपाल सिंह त्यागी, श्री राष्ट्र दहिया, श्री वीरेन्द्र भण्डारी, श्री पुनीत वोहरा, श्री गोबिन्द त्रिपाठी विशेष रूप से उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Top