You are here
Home > breaking > गुजरात में राज्यसभा चुनाव के लिए वोटिंग हुई शुरू

गुजरात में राज्यसभा चुनाव के लिए वोटिंग हुई शुरू

गुजरात में राज्यसभा चुनाव को लेकर वोटिंग शुरू हो गई है। तीन सीटों हो रहे चुनाव पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। तीन सीटों पर चार उम्मीदवार खड़े हैं। बीजेपी की ओर से अमित शाह और स्मृति ईरानी की जीत पक्की मानी जा रही है। लड़ाई तीसरी सीट को लेकर है। जिसपर कांग्रेस नेता और सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल उम्मीदवार हैं। इस सीट पर बीजेपी ने कांग्रेस से आए नेता बलवंत सिंह राजपूत को उम्मीदवार बना दिया है।

आपको बता दें कि बलवंत सिंह राजपूत हाल तक सदन में कांग्रेस के मुख्य सचेतक थे। कांग्रेस के कई विधायकों के हाल में हुए इस्तीफों के बीच सहयोगी एनसीपी ने भी कांग्रेस को झटका देते हुए बीजेपी उम्मीदवार के समर्थन का ऐलान कर दिया है। ऐसे में मुकाबला काफी रोचक हो गया है।

गांधीनगर में मतदान शुरू हो गया है। शाम 6 बजे तक नतीजे आ जाएंगे।

वहीं हाल में कांग्रेस से बागी होकर इस्तीफा देने वाले शंकर सिंह वाघेला मतदान करने पहुंचे। मतदान के बाद वाघेला ने कहा कि मैंने कांग्रेस उम्मीदवार अहमद पटेल को वोट नहीं दिया क्योंकि कांग्रेस जीतने नहीं जा रही।

वाघेला के अलावा एनसीपी के दो विधायक भी मतदान करने पहुंचे।

इस बीच बीजेपी उम्मीदवार बलवंत सिंह राजपूत बोले- हमारी जीत निश्चित है, हमारी पार्टी ने जो सकारात्मक राजनीति की है उसकी वजह से हम जीतेंगे।

इसके साथ ही राज्यसभा के लिए बीजेपी उम्मीदवार अमित शाह और स्मृति ईरानी विधानसभा पहुंचे। उनके साथ गुजरात के सीएम सीएम विजय रुपाणी भी मौजूद हैं।

इससे पहले कांग्रेस विधायक आनंद के रिजॉर्ट से गांधीनगर के लिए रवाना हो गए हैं। राज्यसभा के लिए ये विधायक अपना वोट डालेंगे। कांग्रेस उम्मीदवार अहमद पटेल भी रिजॉट से विधायकों के साथ गांधीनगर के लिए रवाना हुए।

कांग्रेस की प्रतिष्ठा दांव पर

कांग्रेस के लिए ये लड़ाई इसलिए अहम हो जाती है कि 65 विधायकों के साथ कांग्रेस ने इस राज्यसभा सीट के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव और प्रभावशाली नेता अहमद पटेल को उम्मीदवार बनाया था लेकिन 6 विधायकों के इस्तीफे और कई नेताओं के संपर्क से बाहर होने के कारण कांग्रेस का सियासी गणित गड़बड़ हो गया है। हालांकि पिछले 10 दिनों से कांग्रेस ने अपने 44 विधायकों को पहले बंगलुरु और अब आनंद के रिजॉर्ट में रखकर लड़ाई में बने रहने की कोशिश की है लेकिन चुनाव परिणाम आने के बाद ही स्थिति साफ हो पाएगी।

एनसीपी ने दिया झटका

कांग्रेस के लिए इस मुकाबले में एनसीपी के दो और जेडीयू के एक विधायक का वोट भी काफी अहम है। इस मुद्दे पर एनसीपी बंटी हुई दिखी। पवार की बेटी और लोकसभा सांसद सुप्रिया सुले ने कहा कि पार्टी कांग्रेस उम्मीदवार को समर्थन देगी। लेकिन शरद पवार की पार्टी के एक विधायक ने दावा किया कि दोनों विधायकों को भाजपा के प्रत्याशी बलवंत सिंह राजपूत का समर्थन करने का निर्देश दिया गया है। एनसीपी विधायक कंधाल जडेजा ने गांधीनगर में संवाददाताओं से कहा कि वह और एक और पार्टी विधायक जयंत पटेल से राजपूत के समर्थन में वोट देने को कहा गया है।

क्या है सीटों का गणित

गुजरात से राज्यसभा की तीसरी सीट पर अहमद पटेल को जीतने के लिए 45 मत चाहिए। उनकी पार्टी के पास वर्तमान में 44 विधायकों का समर्थन प्राप्त है। इनमें से कोई भी अगर क्रॉस वोटिंग नहीं करता है या ‘उपयुक्त में से कोई नहीं’ (नोटा) विकल्प का प्रयोग नहीं करता है, उस स्थिति में भी कांग्रेस को पटेल की जीत सुनिश्चित करने के लिए एक अतिरिक्त मत की जरूरत होगी।

हाल ही में कांग्रेस छोड़ने का ऐलान करने वाले शंकर सिंह वाघेला की भूमिका भी इस लड़ाई में काफी अहम है। वाघेला ने कांग्रेस छोड़ने का ऐलान भले ही किया है लेकिन वाघेला और उनके बेटे ने विधायक पद से इस्तीफा नहीं दिया है। बलवंत राजपूत वाघेला के रिश्तेदार हैं ऐसे में वाघेला और उनके समर्थक 6 विधायकों के बलवंत सिंह राजपूत के पक्ष में वोट करने की अटकलें लगाई जा रही हैं।

-ऋषभ अरोड़ा

Leave a Reply

Top