You are here
Home > MANORANJAN > Uncategorized > भारत की पहली AC लोकल ट्रेन को झंडी दिखाकर किया गया रवाना

भारत की पहली AC लोकल ट्रेन को झंडी दिखाकर किया गया रवाना

मुंबई: क्रिसमस के मौके पर  रेलवे ने मुंबईवासियों को तोहफा दिया। महाराष्ट्र सरकार के मंत्री विनोद तावड़े ने भारत की पहली एयरकंडीशन लोकल ट्रेन को बोरीवली स्टेशन पर हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

इस लोकल ट्रेन का किराया शुरुआत के 6 महीनों के लिए सामान्य प्रथम श्रेणी के मूल किराए से 1.2 गुना होगा और उसके बाद 1.3 गुना। सप्ताहांत में सफर करने वालों को मायूसी होगी, क्योंकि यह सेवा शनिवार और रविवार को उपलब्ध नहीं होगी। सोमवार को अंधेरी से चर्चगेट के लिए दोपहर 2.44 बजे पहली सेवा रवाना होगी। शनिवार और रविवार छोड़कर रोजाना अप दिशा में 6 और डाउन दिशा में 6 सर्विस चलाई जाएंगी।

जहां एक ओर एसी लोकल चलने की खुशी है, वहीं दूसरी ओर सामान्य यात्रियों को इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ेगा, क्योंकि 12 सामान्य सेवाओं के बदले एसी लोकल की सेवा दी जाएगी। इन 12 में से 8 सर्विस चर्चगेट से विरार और 3 सर्विस चर्चगेट से अंधेरी के बीच चलाई जाएगी। ये सभी तेज लोकल होंगी, जबकि धीमी लोकल के तौर पर केवल एक सर्विस महालक्ष्मी से बोरिवली के बीच चलाई जाएगी। एसी लोकल सेवाओं में भी सामान्य लोकल की तरह दिव्यांग, वरिष्ठ नागरिक और महिला यात्रियों के लिए सीटें आरक्षित हैं। सभी कोच में सामान्य व्यवस्था बनाए रखने के लिए आरपीएफ जवान तैनात रहेंगे।

AC लोकल का टिकट 
-सामान्य टिकट के अलावा केवल साप्ताहिक, पाक्षिक और मासिक सीजन टिकट ही उपलब्ध होगा।
-टिकट में एमयूटीपी सरचार्ज और 5 प्रतिशत जीएसटी चार्ज भी जोड़ा जाएगा।
-एसी लोकल टिकट धारक सामान्य लोकल के प्रथम श्रेणी कोच में भी यात्रा कर सकते हैं।

टाइम टेबल 
सुबह 6.58 बजे से पहली सर्विस महालक्ष्मी से बोरिवली के लिए रवाना होगी। इसके बाद बोरीवली से 07:54, विरार से 10:22, 13:18, 16:22 और 21:24 बजे चर्चगेट के लिए रवाना होगी। चर्चगेट से सुबह 08:54, 11:50, 14:55, 17:59 और 19:49 बजे रवाना होगी। इस दौरान नियमित तौर पर जो सामान्य सेवाएं चल रही हैं, उन्हें सेवा से हटाया जाएगा। विरार से रोजाना 10:22 की चर्चगेट लोकल पकड़ने वाले यात्री विमल जोशी के अनुसार, ‘एसी लोकल चलना अच्छी बात है, लेकिन हम जैस; सामान्य यात्रियों का क्या जो रोजाना तय वक्त पर सामान्य लोकल से सेकंड क्लास कोच में यात्रा करते हैं। एक सर्विस हटाने का मतलब है 3-4 हजार सामान्य यात्रियों का हक छीनना।’

Leave a Reply

Top