You are here
Home > NEWS > देशबंधु कालेज में नई शिक्षा नीति पर हुआ दो-दिवसीय वेबिनार

देशबंधु कालेज में नई शिक्षा नीति पर हुआ दो-दिवसीय वेबिनार

बोल बिंदास -दिल्ली विश्वविद्यालय के देशबंधु कालेज में ‘नई शिक्षा नीति २०२०’ पर दो दिवसीय वेबिनार का आयोजन किया गया। ज्ञात हो कालेज की NSS टीम द्वारा ‘स्वतंत्रता दिवस व्याख्यान माला २०२०’ के तहत इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

वेबिनार के प्रथम दिन जेएनयू के Vice Chancellor प्रो. एम. जगदीश कुमार ने अपना विशेष सम्बोधन दिया।उनके अनुसार इस शिक्षा नीति ने नए भारत के निर्माण के लिए शिक्षा के क्षेत्र मे कुछ बुनियादी सुधारों को अपनाया है। उन्होंने कहा कि जहाँ एक ओर इस नीति ने शिक्षा व्यवस्था से जुड़े सभी आवश्यक समूहों से चर्चा करके, एक व्यापक योजना बनायी है, वहीं दूसरी ओर यह योजना देसी भाषाओं, ग्रामीण शिक्षा, तकनीकी ज्ञान और मूल्य परक ज्ञान प्रणाली को स्थापित करने पर केंद्रित है। उनके अनुसार यह नीति शिक्षा व्यवस्था को रोज़गार परक, अंतरविषयिक, स्वनिर्भर और आधुनिक बनने पर ज़ोर देती है, जो आज के भारत मे अति आवश्यक है।

व्याख्यान के दूसरे दिन जेएनयू के प्रो. मज़हर आसिफ़, जो की ‘नई शिक्षा नीति’ समिति के सदस्य भी थे, ने अपने सम्बोधन में भारतीय ज्ञान परम्परा को आज को शिक्षा का मूल आधार बताया। उनके अनुसार ‘आत्मनिर्भर भारत’ के निर्माण के लिए यह नीति भाषा, ज्ञान, संस्कृति, विज्ञान और कृषि को प्राथमिकता देती है।

वेबिनार के प्रथम दिन कालेज के गवर्निंग बोर्ड अध्यक्ष प्रो. दीपक गौर ने आमंत्रित वक्ताओं का स्वागत किया। प्राचार्य डा. राजीव अग्रवाल ने अपने धन्यवाद प्रस्ताव में सभी का अभिनंदन करते हुए कालेज में लगातार हो रहे अकादमिक कार्यों की जानकारी भी दी।

कार्यक्रम संयोजक डा रूबी मिश्रा के अनुसार लगभग ४०० छत्रों और शिक्षक ने दोनो दिन अपनी सहभागिता दी।

Top