You are here
Home > breaking > दिल्लीवालों को मेट्रो का झटका, 15 किलो से ज्यादा समान लेकर नहीं कर पाएंगे यात्रा

दिल्लीवालों को मेट्रो का झटका, 15 किलो से ज्यादा समान लेकर नहीं कर पाएंगे यात्रा

दिल्ली मेट्रो के बढ़े किराये का बोझ झेलने के बाद अब दिल्लीवालों के लिए एक और बुरी खबर है। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली मेट्रो जल्द ही यात्रियों को मेट्रो ट्रेन में 15 किलो से ज्यादा भारी सामान लेकर यात्रा नहीं करने देगी। इसके साथ ही डीएमआरसी मेट्रो यात्रा के दौरान ओवरसाइज बैग ले जाने पर भी प्रतिबंध लगाने वाली है। बताया जा रहा है कि डीएमआरसी के द्वारा ये योजना 20 मार्च से लागू किया जा सकता है। यात्रियों को 15 किलो से अधिक वजन का सामान लेकर यात्रा करने और ओवरसाइज बैग के लिए नई दिल्ली रेलवे मेट्रो स्टेशन सहित कुछ चुनिंदा मेट्रो स्टेशनों पर रोका जा सकता है। दिल्ली मेट्रो इसके लिए सामानों के स्कैनर के पास ही विशेष व्यवस्था करने पर विचार कर रहा है। मेट्रो के अनुसार ऐसा करने के पीछे यात्रियों के सामान से मेट्रो में होने वाले दिक्कत को कम करना है।

गौरतलब है कि अभी कुछ दिनों पहले ही डीएमआरसी ने कई मेट्रो स्टेशनों पर बैग जांच करने के लिए लगाई गई एक्स-रे मशीन के पास U आकर का मेटल बैरियर लगाया है। इसके बाद दिल्ली के पांच मेट्रो स्टेशन बाराखंभा, आनंद विहार, चांदनी चौक, कश्मीरी गेट और शाहदरा पर बड़े आकर का सामान एक्स-रे मशीन के अंदर जांच के लिए नहीं डाला जा सकता है। बताया जा रहा है कि डीएमआरसी 20 मार्च से ऐसे एक्स-रे मशीन वाले स्टेशन की संख्या बढ़ाकर 15 कर देगी। डीएमआरसी के द्वारा आदर्श नगर, आजादपुर, बदरपुर, बॉटनिकल गार्डन, चावड़ी बाजार, दिलशाद गार्डन, गोविंदपुर, हुडा सिटी सेंटर, इंद्रलोक, करोल बाग, लाल किला, नांगलोई, आर के आश्रम मार्ग, रिठाला और नई दिल्ली मेट्रो स्टेशन पर ऐसे एक्स रे मशीन लगाने पर विचार किया जा रहा है।

मेट्रो में बैग के साइज और सामानों के भार को नियंत्रित करने के पर डीएमआरसी ने कहा है कि उसके द्वारा ऐसा डीएमआरसी ऑपरेशन और मेन्टनन्स ऐक्ट के तहत किया जा रहा है। इसके अलावा मेट्रो की सुरक्षा में लगे सीआईएसएफ के इनपुट को भी ध्यान में रखा गया है। डीएमआरसी ऑपरेशन और मेन्टनन्स ऐक्ट के तहत किसी यात्री को 15 किलो से ज्यादा सामान लेकर जाने से रोका जा सकता है। इसके साथ ही सामान की साइज भी फिक्स है। एक्ट के अनुसार सामान की लंबाई 60 सेंटीमीटर और चौड़ाई 45 सेमी हो सकती है और ऊंचाई 25 सेमी से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। इसके साथ ही मेट्रो ने कहा है कि जिन यात्रियों को ओवरसाइज सामान होने के कारण मेट्रो में प्रवेश नहीं करने दिया जायेगा, उनके मेट्रो टोकन का पूरा पैसा वापस कर दिया जायेगा।

Leave a Reply

Top