You are here
Home > SOCIAL MEDIA

नागरिक कर्तव्यों पर बात के बहाने…राजशेखर पंत

  राजशेखर पंत, पेशे से अध्यापक आप नैनीताल के बिड़ला विद्यामंदिर विद्यालय में  पढ़ाते हैं। स्वभाव से घुमक्कड़, प्रकृति प्रेमी, छायाकार राजशेखर के लेख विभिन्न राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं में निरंतर छपते रहते हैं। प्रस्तुत लेख उनकी फेसबुक वॉल से साभार लिया गया है। आजकल के माहौल में ये प्रासंगिक है और हमारे

माँ का नामकरण- कमलेश के मिश्र

आजमदर्स डे की सोशल धूम है. पहली नज़र में मेरा मानना है कि यह बाज़ारजनित नवसृजित पर्व है. एक दिन में क्या जतेगा माँ के प्रति आदर. माँ तो युगों में बसी हस्ती है माँ मेरे साँसों की किश्ती है तो आजका दिन माँ के लिए स्पेशल बन रहा है तो

अगले जनम मोहे लेबर बनईयो-अतुल गंगवार

बोल बिंदास- हे ऊपर वाले तुझसे हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि अगले जनम में मुझे लेबर बनईयो. इस जनम में तूने मुझे पत्रकार बनाया, क्यूं बेकार बनाया? दुनिया के हक को लड़ने वाला, सत्ता के तख्त को पलटने वाला, क्रांति का जनक बनाया, तुझे क्या हक था कि मुझे इतनी गलतफहमियां

ग़ालिब (नहीं) छुटी शराब… राजशेखर पंत

ग़ालिब (नहीं) छुटी शराब... राजशेखर पंत अंधे को अँधा न कह कर अगर सूरदास कहा जाये तो सुनने वाले को बुरा नहीं लगता, साथ ही यह भी पता चल जाता है कि बोलने वाला एक सभ्य, संस्कारवान व्यक्ति है।पर भारतीय संस्कृति, जय श्री राम , गौमाता और देवभूमि जैसे जुमलों की बैसाखी

योगी बने मुख्यमंत्री-मिला यूपी का ताज

बोल बिंदास-अटकलो का दौर थम गया और उत्तरप्रदेश के नए मुख्यमंत्री के रूप में योगी आदित्यनाथ के नाम की घोषणा कर दी गयी है. उनके साथ केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा उप मुख्यमंत्री होंगे. 19 तारीख को लखनऊ स्मृति वन में योगी आदित्यनाथ अपने साथियो के साथ शपथ लेंगे.

देहदान-अंगदान समाज की ज़रूरत

देहदान-अंगदान समाज की एक बड़ी जरूरत एक देह के दान से कई जिंदगियां रोशन हो सकती हैं। अगर एक व्यक्ति भी देहदान करने से प्रेरित होता है, तो दधीचि देह दान समित्ति उत्तर पूर्वी क्षेत्र का यह प्रयास सार्थक हो जाएगा इसी उदेश्य को मूल

Top