You are here
Home > JANTA KE BOL

नागरिक कर्तव्यों पर बात के बहाने…राजशेखर पंत

  राजशेखर पंत, पेशे से अध्यापक आप नैनीताल के बिड़ला विद्यामंदिर विद्यालय में  पढ़ाते हैं। स्वभाव से घुमक्कड़, प्रकृति प्रेमी, छायाकार राजशेखर के लेख विभिन्न राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं में निरंतर छपते रहते हैं। प्रस्तुत लेख उनकी फेसबुक वॉल से साभार लिया गया है। आजकल के माहौल में ये प्रासंगिक है और हमारे

देहदान-अंगदान समाज की ज़रूरत

देहदान-अंगदान समाज की एक बड़ी जरूरत एक देह के दान से कई जिंदगियां रोशन हो सकती हैं। अगर एक व्यक्ति भी देहदान करने से प्रेरित होता है, तो दधीचि देह दान समित्ति उत्तर पूर्वी क्षेत्र का यह प्रयास सार्थक हो जाएगा इसी उदेश्य को मूल

Top