You are here
Home > HOME > झाडू फिर गयी झाडू पर-MCD चुनावों में AAP की करारी हार

झाडू फिर गयी झाडू पर-MCD चुनावों में AAP की करारी हार

बोल बिंदास-

लोकतंत्र की यही विशेषता है जनता की ताकत जो किसी को फर्श से अर्श पर पंहुचा देती है और किसी को अर्श से फर्श पर. अभी लगभग 2 साल पहले जिस आम आदमी पार्टी को अपना मानते हुए दिल्ली की जनता ने उसे 70 में से 67 सीटें दी थी उसने 2017 के निगम चुनावों में महज 45 सीटों पर समेट दिया. माना जा रहा था कि ये चुनाव दिल्ली में आम आदमी पार्टी के शासन पर जनता की राय होगा.

केेजरीवाल इस गलतफहमी में थे कि पार्टी की तरह जनता उनकी मुठ्ठी में है और वो जो चाहे करते रहे, जनता भाजपा के निगम शासन से त्रस्त है कांग्रेस को वो वोट नही देगी इसलिए वो उन्हें वोट देकर चुनावों में विजयी बनायेगी. लेकिन दिल्ली की जनता ने उन्हे पूरी तरह नकार दिया.

इन चुनावों के नतीजों से एक बात ओर साफ हो गयी है कि आम आदमी पार्टी देश में भाजपा और कांग्रेस का विकल्प नही है. पंजाब में अकाली शासन से त्रस्त पंजाब की जनता ने आम आदमी पार्टी की जगह कांग्रेस को चुना और गोवा में तो आम आदमी के एक उम्मीदवार को छोड़कर सभी की जमानत जब्त हो गयी.

अब वक्त है कि केजरीवाल अपनी हार का ठीकरा EVM पर ना फोड़े और आत्मावलोकन करे कि उनकी हार के क्या कारण है. आखिर कोई तो वजह होगी कि मुफ्त बिजली पानी के बावजूद उन्हे दिल्ली की जनता ने नकार दिया.

अतुल गंगवार

Leave a Reply

Top